महासमाधि दिवस पर श्री सत्य साईं बाबा आराधना महोत्सव मनाया गया


पाकुड़ । संसार भर में भगवान श्री सत्य साई बाबा का "आराधना महोत्सव"  बड़े ही धूम धाम से मनाया जा रहा है।  इसी क्रम में रविवार को श्री सत्य साई सेवा संगठन पाकुड़ द्वारा हिरणपुर, हथकथी, तारापुर, शहरकोल पाकुड़  के 240 लोगों को फूड पैक्ड एवं सभी उपस्थित लोगों को प्रसाद के रूप में  सेव वितरण किया गया। 

हिरणपुर में स्पेशल मेडीकल कैंप का आयोजन किया गया। जिसमें डॉ बृंदावन साह द्वारा 45 रोगियों को निशुल्क जांच कर दवा दी गई। शाम को पाकुड़ छोटी लीगंज में एक घंटा साई भजन कर सत्य साई बाबा के द्वारा चलाए जा रहे सेवा कार्य पर चर्चा की गई। भजन कर सभी साई भक्तो के बीच प्रसाद वितरण की गई। 

स्टेट एसआरपी कोऑर्डिनेटर डॉक्टर देव कांत ठाकुर ने बताया की भगवान श्री सत्य साई बाबा का जन्म 23 नवंबर 1926 को पुट्टपर्थी नामक छोटा सा गांव, अनंतपुर जिला आंध्रप्रदेश राज्य में हुआ था। मृत्यु 24 अप्रैल 2011 पुट्टपर्थी, आन्ध्र प्रदेश, भारत में हुआ था। भगवान श्री सत्य साईं बाबा रंग रूप जाति धर्म को छोड़कर मानवता के लिए कहा की "मानस भजो रे गुरु चरण दुष्तरभाव सागर तरनम", हे मानव उस गुरु की महिमा कर उस अल्लाह का बंदगी कर उस ईशा का प्रार्थना कर, जो तुम्हें इस भवसागर से पार लगाएगा एवं उन्हीं के बताए हवे हुए रास्ते पर चल जो तुम्हें मोक्ष की प्राप्ति होगा। ऐसे भगवान श्री सत्य साईं बाबा ने अनेकों कार्य किए उनमें से जहां आज भी उनके अस्पताल श्री सत्य साई इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल साइंसेज पुट्टपरथी एवं व्हाईट फील्ड बैंगलोर मे फ्री में, हर्ट, किडनी, पथरी, पेट, हड्डी , प्लास्टिक सर्जरी, जैसे बड़े बड़े ऑपरेशन किया जाता है। उनके स्कूल कॉलेज में केजी से लेकर पीजी तक की पढ़ाई बिल्कुल मुफ्त में की जाती है। पूरे संसार में 230 देशों में संगठन चल रहा है। बाबा कहते है मानव सेवा ही माधव सेवा है। 

कार्यकर्म को सफल बनाने के लिए राजेश रजक, दीपक ठाकुर, सोनू स्वर्णकार, योगेश पासवान, अजीत राय, रूपचंद मेहरा एवं साई भक्तो ने भाग लिया।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदेश के दवाब पर ही सही आखिर सच्चाई तो उपायुक्त पाकुड़ के सामने आ ही गई

वैध माइनिंग, अवैध परिवहन के खिलाफ जिला खनन टास्क फोर्स सख्त

कृषि पशु पालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया