कांग्रेस के कार्यकर्ता आने वाले समय मे अपना कंडीडेट को विधानसभा चुनाव में उतारेगी : मनोबर आलम

 

हिरनपुर । आज हिरणपुर प्रखण्ड में कांग्रेस संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता प्रखण्ड अध्यक्ष मनोबर आलम ने किया। जिसमें मुख्यातिथि के रूप में प्रभारी कृष्णा यादव उपस्थित थे। 

संवाद कार्यक्रम में जय मालतो ने कहा कि इस विधानसभा में कार्यकर्ता कांग्रेस का है जे एम एम का गुलाम नही जो चुनाव आने के बाद गठबन्धन का पालन करें। 

वही आबिद इस्लाम ने बिजली की समस्याओं को रखा, राष्का हेम्ब्रम ने प्रखण्ड में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को सम्मान नही देना कही से भी उचित नही है। दोहरा मापदंड नही चलेगा पदाधिकारी सबके लिए समान है। 

प्रखण्ड अध्यक्ष मनोबर आलम ने कहा कि जिले के पदाधिकारियों नेताओ को हिरणपुर प्रखण्ड में अपना समय देना चाहिए तभी संगठन मजबूत होगा। साथ ही कार्यकर्ताओं का मनोबल बढेगा। हमलोग माननीय मंत्री आलमगीर साहब के साथ है। उनकी हर बातों को सर आंखों पर रखकर काम कर रहे है। हमारे नेता राहुल गांधी जी की देश को बचाने की सोच को आगे बढ़ाने के लिए हर घर तक उनकी बातों को पहुंचाने का काम करेंगे। 

संवाद कार्यक्रम का मुख्य उद्देश है 2024 में कांग्रेस को सत्ता में लाकर देश को बचाना है। इसी लिए हमलोग कार्यकर्ताओं से संवाद कर के संगठन को मजबूत करना है। 2024 में लिट्टीपाड़ा से पार्टी को कंडीडेट देना चाहिए।  झारखण्ड मुक्ति मोर्चा कांग्रेस संगठन को कमजोर करने का काम कर है। हमलोग हर हाल में राजमहल लोकसभा से कैंडिडेट की मांग करते है। जे एम एम के सांसद हो या विधायक हम काँग्रेशियो से चुनाव में मदद तो लेते है पर चुनाव बाद सुधि तक नही लेता है। जिससे हमलोगों का मनोबल गिरता है। इसलिए मेरा हमसबो का केंद्रीय नेतृत्व से आग्रह होगा कि लोकसभा व विधानसभा में पार्टी अपना कंडीडेट दे। 

प्रभारी कृष्णा यादव ने अपनी बातों को रखते हुए कहा कि बैठक में जो भी बाते आई है उसे जिला अध्यक्ष व प्रदेश संयोजक आदरणीय सुलतान अहमद साहब को बताऊंगा। 

बैठक में मोतीलाल मरांडी, अख्तर अंसारी, बबलू किस्कू, राजेन मरांडी, आबिद इस्लाम, मानसर सेख उपस्थित थे। 

सतनाम सिंह की रिपोर्ट 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदेश के दवाब पर ही सही आखिर सच्चाई तो उपायुक्त पाकुड़ के सामने आ ही गई

वैध माइनिंग, अवैध परिवहन के खिलाफ जिला खनन टास्क फोर्स सख्त

कृषि पशु पालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया