शहरकोल में मना पंचायती राज दिवस



पाकुड़ ।  पंचायती राज दिवस के अवसर पर बर्तमान मुखिया श्रीमती चित्रलेखा गौड़ ने अपने पंचायत क्षेत्र शहर कोल के  ग्रामीणों के बीच  ग्राम पंचायत के महत्व पर प्रकाश डाला। 

उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि पंचायती राज भारत सरकार की एक शाखा है। जो ग्रामीण स्थानीय स्वशासन की एक प्रणाली है। जिसमें ग्रामीण स्तर पर प्रत्येक गांव अपनी गतिविधियों के लिए स्वयं जिम्मेदार होता है। यह एक प्रकार का स्थानीय निकाय है, जो ग्रामीणों के कल्याण के लिए काम करती है। इसका कार्यकाल 5 वर्षों का निर्धारित है। भारत में त्रिस्तरीय पंचायती राज की व्यवस्था है, जिसमें ग्राम पंचायत, पंचायती समिति और जिला परिषद आते हैं। ग्राम पंचायत का प्रधान सरपंच होता है।  जिसका निर्वाचन मुखिया की तरह प्रत्यक्ष रूप में होता है। पंचायत की सभी देखभाल और विकास की जिम्मेवारी मुखिया की होती है। 

24 अप्रैल पंचायती राज की अवसर पर वर्तमान मुखिया श्रीमती चित्रलेखा गौड़ ने ग्रामीणों को बताया कि इस बार भी गाँव की तीसरी सरकार बन रही हैं। सोच विचार कर अपने गांव को सरकार बनाएं। नहीं तो ग्रामीण विकास बाधित होगी। सभी लोग अपना मतदान करें यह आपका अधिकार है।

राजकुमार भगत की रिपोर्ट

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदेश के दवाब पर ही सही आखिर सच्चाई तो उपायुक्त पाकुड़ के सामने आ ही गई

वैध माइनिंग, अवैध परिवहन के खिलाफ जिला खनन टास्क फोर्स सख्त

कृषि पशु पालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया