बिजली विहीन की और पाकुड़, डिजिटल इंडिया को आइना दिखता पाकुड़ बिजली विभाग

 

पाकुड़ | बिजली के कारनामे रोज अचंभित करने वाले होते है। पाकुड़ बिजली विभाग सबका साथ सबका विकास में अपने विकास के लिए काम करती है। जन प्रतिनिधि भी हाथ पे हाथ रख कर बैठ हुए है। 

एक तरफ डिजिटल इंडिया की बात होती है और दूसरी तरफ पाकुड़ में एक हल्का हवा का झोका आने से दिन भर लाइट खत्म, मौसम बदलता है। पूरा बिजली विभाग ही बीमार हो जाता है। रोज एक नए बहाने लेकर जनता के सामने आते है।

विश्वस्त सूत्रों से पता चला है बिजली विभाग यह सब जन बुझ कर रहा है। पाकुड़ की लाइट काट बाहर सप्लाई की जाती है। इधर सुरेश अग्रवाल ने बिजली विभाग के खिलाफ जन आंदोलन की बात कर रहे है। उन्होंने व्हाट्स अप्प्स के माध्यम से बताया की बिजली विभाग से वार्तालाप के क्रम में पता चला है की बिजली सुधारने का प्रयास किया जा रहा है। पावर हाउस में तो ऐसा प्रतीत होता है कि आज संध्या के बाद बिजली ट्रिप नहीं करेगी यदि करेगी तो मै  आंदोलन की तैयारी करूंगा। इस मामले में हमारे पाकुड़ जिला के जनप्रतिनिधियों का जरा भी ध्यान आकर्षित नहीं हो रहा है। मैं तो आम जनता से कहूंगा चाहे वह पंचायत हो या व शहर इलाका हो सभी जनप्रतिनिधि अभी वोट की राजनीति करते हैं। वोट आता है तो सब वादा करते हैं। वोट जीतने के बाद वादा भूल जाते हैं। पूर्व विधायक अकील अख्तर बिजली के लिए सरकार में रहते हुए भी विधानसभा में धरना में बैठ गए थे। वैसे ही जनप्रतिनिधि होने चाहिए जनप्रतिनिधि को ठेस लगेगी मेरी बातों से लेकिन मैं क्या करूं जनता की तकलीफ सबसे बड़ी तकलीफ होती है। यदि जनप्रतिनिधि को मेरे लिखे हुए शब्दों से ठेस पहुंच रहे हैं तो मैं उसके लिए माफी चाहता हूं। सही लिखना कड़वा सच होता है धन्यवाद...

सतनाम सिंह की रिपोर्ट 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदेश के दवाब पर ही सही आखिर सच्चाई तो उपायुक्त पाकुड़ के सामने आ ही गई

वैध माइनिंग, अवैध परिवहन के खिलाफ जिला खनन टास्क फोर्स सख्त

कृषि पशु पालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया