विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर सभी प्रखंडों में रैली के माध्यम से लोगों को किया जा रहा है जागरूक

पाकुड़ | महेशपुर प्रखंड में जेएसएलपीएस की सखी दीदी, सेविका, जलसहिया, ग्रामीणों एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारीयों के द्वारा मलेरिया बचाव से संबंधित रैली निकाली गई। 

वही हिरणपुर प्रखंड के प्रभारी डीपीओ केयर सैया एमटीएस एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी के द्वारा रैली निकाली गई।लिट्टीपाड़ा प्रखंड के प्रभारी एमपीडब्ल्यू सहिया, बीटीटी के द्वारा मलेरिया उन्मूलन से संबंधित बचाव से संबंधित सीएससी चौक तक रैली निकाली गई। अमड़ापाड़ा प्रखंड एवं पाकुड़िया में भी स्वास्थ्य विभाग के द्वारा रैली आयोजन किया गया। लिट्टीपाड़ा और अमड़ापाड़ा प्रखंड के सभी सीएलएफ एरिया में सखी दीदी के द्वारा बैठक के माध्यम से एवं रैली के माध्यम से लोगों में मलेरिया बचाव से संबंधित लोगों में जागरूकता का अभियान चलाया गया। अमड़ापाड़ा प्रखंड के पचुवारा सीएलएफ एवं पाडरकोला सीएलएफ में सखी दीदियों की बैठक की गई जिसमें मलेरिया से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई पीसीआई के रीजनल मोबिलाइजेशन कोऑर्डिनेटर एवं जेएसएलपीएस के आबू इमरान अमड़ापाड़ा प्रखंड के ब्लॉक एंकर पर्सन नीरज कुमार एवं पाडरकोला के क्लस्टर कोऑर्डिनेटर संजय कुमार द्वारा इस अभियान के लिए काफी जोर-शोर से अंतिम व्यक्ति तक कालाजार मलेरिया से बचाव से संबंधित जानकारी पहुंचाने का काम किया गया। अमड़ापाड़ा प्रखंड के कुल चार कलस्टर में 68 VOs के माध्यम से 749 ग्रुप तक मलेरिया से बचाव से संबंधित जानकारी दी गई। 

लिट्टीपाड़ा प्रखंड के जेएसएलपीएस बीपीएम के द्वारा कुल चार सीएलएफ अंतर्गत 117 VOs के माध्यम से कूल 1471 महिला ग्रुप तक मलेरिया से बचाव से संबंधित जानकारी देने का लक्ष्य रखा गया है। सभी महिला ग्रुप  10-10 घरों में  मलेरिया से बचाव से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराएंगे। जैसा कि सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि पूरे जिले में लिट्टीपाड़ा सबसे अधिक मलेरिया प्रभावित प्रखंड है, जहां मलेरिया के रोगी बहुत अधिक मिलते हैं लिट्टीपाड़ा कस्तूरबा विद्यालय में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और पीसीआई के द्वारा मलेरिया से बचाव से संबंधित बच्चियों के बीच जानकारी दी गई एवं शपथ भी दिलाया गया की घर के आस-पास साफ सुथरा रखेंगे पानी जमने नहीं देंगे मच्छरदानी का प्रयोग करेंगे एवं बीमार होने पर तुरंत स्वास्थ्य केंद्र जाए वहाँ समुचित इलाज किया जाएगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आदेश के दवाब पर ही सही आखिर सच्चाई तो उपायुक्त पाकुड़ के सामने आ ही गई

वैध माइनिंग, अवैध परिवहन के खिलाफ जिला खनन टास्क फोर्स सख्त

कृषि पशु पालन एवं सहकारिता विभाग द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया